Spread the love

*त्रिवेणी धाम में न घाट साफ-सुथरे, न सुरक्षा के लिए ज्ञापन दिया*
सनातन हिन्दू युवा वाहिनी जिलाध्यक्ष अनूप कुमार शर्मा जिला संघटन मंत्री ओम जी पाराशर ने आज राजस्थान मुख्यमंत्री व भीलवाड़ा जिलाधीश महोदय जी को

भीलवाड़ा जिले का प्रसिद्ध तीर्थ स्थल त्रिवेणी धाम। बीगोद और मांडलगढ़ के बीच स्थित। यहां न तो घाट साफ-सुथरे हैं, न ही श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए घाटों पर लोहे की जंजीरें (सांकलें) लगी है। इससे स्नान के दौरान श्रद्धालुओं के पैर फिसल कर हादसे की आशंका बनी रहती है। त्रिवेणी धाम मेवाड़ क्षेत्र का एक पवित्र दर्शनीय तीर्थ स्थल है। यहां तीन नदियों का समावेश है। प्राचीन शिव मंदिर भी है। दूर-दराज से श्रद्धालु स्नान करने आते हैं। पंडितों द्वारा बताए गए कालसर्प योग की शांति, पितृ शांति, तर्पण अभिषेक जैसे विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम किए जाते हैं। त्रिवेणी धाम में श्रद्धालुओं की निरंतर आवाजाही रहती है परंतु यहां सुलभ शौचालय तक नहीं है। लोग आसपास में खुले में ही निवृत्त होते हैं। नदी में स्नान करने के लिए लोहे की जंजीर (सांकल) भी नहीं लगी है। स्नान के दौरान श्रद्धालुओं खासकर महिलाओं एवं बच्चों के साथ दुर्घटना होने का अंदेशा बना रहता है
सनातन हिन्दू युवा वाहिनी ने सरकार से निवेदन किया कि सरकार त्रिवेणी धाम को सरकारी योजना में लेकर धाम को जीर्णोद्वार कर धाम को तीर्थ घोषित करे ज्ञापन में शहर अध्यक्ष दिलीप राव जिला पदाधिकारीअशोक टहिलानी ,मनोज आचार्य,पवन जैन,पंहिमाशु,सुशील सुवालका, रघुनाथ विश्नोई,मुकेश शर्मा, शेरू सिंह,लक्ष्मी कवर ,शालिनी सिन्हा,अनुराधा जी,चंचल पवार सभी उपस्थित हुए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *